प्रधानमंत्री मुद्रा योजना सम्पूर्ण जानकारी | Mudra Yojana in Hindi

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PM Mudra Yojana)

देश में छोटे और मध्यम आकार के उद्योगों (Samll Business/MSME) की वित्तीय आवश्यकताओं (Financial Needs) को पूरा करने के लिए भारत सरकार ने अप्रेल 2015 में प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PM Mudra Yojana) की शुरुआत की हैं। भारत की अर्थवयवस्था में इन छोटे व्यपारियों का बहुत अधिक योगदान है। 8th अप्रैल 2015 से लागू की गयी प्रधान मंत्री मुद्रा योजना (PMMY ) का उद्देश्य पढ़े लिखे नौजवानो के हुनर को बढ़ावा देना साथ ही महिलाओ को सशक्त बनाना है। लघु उद्योगों को विस्तृत करना है।

हमारे देश में कई ऐसे छोटे मोटे बिज़नेस मैन है, जिनको बैंक से आर्थिक मदद आसानी से नहीं मिलती क्योकि वे बैंक के नियमो को पूरा नहीं कर पाते है इस कारण वे अपने उधोगो को बढ़ाने में असमर्थ होते है। इसी बात को ध्यान में रखकर भारत सरकार ने लघु उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए Mudra (Micro Units Development Refinance Agency) Scheme को लांच किया हैं। PMMY के तहत हर वो व्यक्ति जिसके नाम कोई लघु उधोग है या किसी के साथ पार्टनरशिप बिज़नेस है वे इस प्रधानमंत्री मुद्रा योजना से लोन ले सकते है।

मुद्रा योजना (Mudra Yojana) की मदद से छोटे व्यपारी अपने काम को बढ़ा सकते हैं व बेरोजगार युवा नए काम को शुरू कर सकते है। बैंकों को जटिल लोन प्रक्रिया के कारण नए व्यपारी को लोन मिलना बहुत मुश्किल था लेकिन मुद्रा लोन लेने की प्रक्रिया काफी आसान है। इसमें किसी भी प्रकार की गारंटी की आवश्यकता नहीं होती। मुद्रा लोन की प्रक्रिया को सहजता से पूरा किया जा सकता है। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के आंकड़ों के अनुसार 2018-19 वित्तीय वर्ष में 6 करोड़ से भी अधिक मुद्रा लोन पास किए गए व 311811.38 करोड़ रुपए की राशि का आवंटन किया गया।

मुद्रा लोन के प्रकार (Types of Mudra Loan)

मुद्रा योजना के तहत मुद्रा लोन को विभिन्न व्यवसायों की ज़रूरतों को ध्यान में रखते हुए तीन भागो में बांटा है। मुद्रा लोन व्यवसाय के मुनाफे को देखते हुए या फिर किसी नए व्यवसाय की प्रोजेक्ट रिपोर्ट के अनुसार ही मिलता है। मुद्रा लोन के प्रकार (Types of Mudra Loan) निम्न है –

  1. शिशु लोन (Shishu Loan) -शिशु लोन के तहत 50000/- रूपये तक लोन दिए जाते है। शिशु लोन उन्हें दिया जाता है जो लोग अपना बिज़नेस कम लागत के साथ शुरू करना चाहते है।
  2. किशोर लोन (Kishor Loan)– किशोर लोन के तहत 50000/- रूपये के ऊपर और 5 लाख रूपए तक के ऋण दिए जाते है। इस श्रेणी में वे लोग आते है जो मध्यम वर्ग का बिज़नेस शुरू करना चाहते है।
  3. तरुण लोन (Tarun Loan) – तरुण लोन के तहत 5 लाख रूपये से ऊपर और 10 लाख रूपये तक के लोन दिए जाते है। मुद्रा लोन योजना का यह अधिकतम राशि का लोन है। यह लोन अधिकतर उन्ही लोगो को मिलता है जो पहले से ही बिज़नेस कर रहें है और अपना बिज़नेस बढ़ाना चाहते है।

मुद्रा लोन ब्याज दरें? Mudra Loan Interest Rates

अगर आप मुद्रा लोन (Mudra Loan) की ब्याज दर के बारे में जानना चाहते है तो आपकी जानकारी के लिए बता दें की वैसे तो मुद्रा लोन की ब्याज दर निश्चित रूप से निर्धारित नहीं की गयी है, यह विभिन्न बैंकों की कार्य प्रणाली और आपके व्यापर के जोखिम पर निर्भर करती है। आंकड़ों और जानकारी के लिए मुद्रा लोन ब्याज दर को निम्न तरिके से बांटा गया है –

  • शिशु लोन – इस लोन के लिए आपको 10 से 12 प्रतिशत ब्याज चुकाना होगा।
  • किशोर लोन – इस लोन में आपकी ब्याज दर 14 से 17 प्रतिशत की होगी।
  • तरुण लोन – चूँकि इस लोन की लोन राशि अधिक है इसलिए इसकी ब्याज दर भी 16 प्रतिशत से अधिक ही होगी।

मुद्रा योजना के लाभ (Mudra Loan Benefits) 

  • मुद्रा स्कीम के तहत सामान्यत: बिना गारंटी के लोन प्रदान किये जाते हैं।
  • मुद्रा लोन लेने के प्रक्रिया अन्य लोन के मुकाबले सरल है।
  • मुद्रा योजना (Mudra Yojana) के जरिये कारोबारी बिना प्रॉपर्टी गिरवी रखें बिजनेस लोन ले सकते हैं। इस योजना के तहत लोन लेने के लिए किसी भी तरह की प्रोसेसिंग फीस चार्ज नहीं की जाती हैं।
  • मुद्रा लोन (Mudra Loan) से छोटे दुकानदारो को भी लाभ मिलेगा जो अपने कारोबार को आगे बड़ा सकते हैं।
  • मुद्रा लोन की पुनः भुगतान अवधि (Repayment Period) को 5 वर्ष तक बढाया जा सकता हैं।
  • Working Capital Loan को मुद्रा कार्ड के द्वारा प्रदान किया जा सकेगा।

Mudra Loan Eligibility Criteria

कोई भी भारतीय नागरिक या फर्म जो किसी भी क्षेत्र (खेती के आलावा) में अपना व्यवसाय शुरू करना चाहता हैं या फिर अपने वर्तमान व्यवसाय को आगे बढ़ाना चाहता हैं और उसकी वित्तीय आवश्यकता 10 लाख रूपये तक हैं वह प्रधानमंत्री मुद्रा योजना (PMMY) के तहत Loan के लिए आवेदन कर सकते हैं|

ये भी पढ़ें – अटल पेंशन से जुडी सम्पूर्ण जानकारी 

मुद्रा योजना (Mudra Yojana) में लोन नॉन-कॉरपोरेट स्मॉल बिजनेस सेगमेंट (NCSB), जिसमें प्रोपराइटरशिप या पार्टनरशिप फर्म हैं जो छोटी मैन्युफैक्चरिंग यूनिट्स, सर्विस सेक्टर यूनिट्स, ट्रक संचालक, फूड-सर्विस यूनिट्स, रिपेयर शॉप्स, दुकानदार, फल व सब्जी विक्रेता, मशीन ऑपरेटर्स, स्मॉल इंडस्ट्रीज के रूप में चल रही हैं वह या फिर ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में कारीगर, खाद्य प्रोसेसर और अन्य ले सकते हैं।

मुद्रा योजना लोन कैसे लें How to apply for Mudra Loan?

मुद्रा योजना (Mudra Yojana) लोन के लिए आप दो तरीकों से आवेदन कर सकते है – पहला ऑनलाइन माध्यम से और दूसरा ऑफलाइन माध्यम से यानी की किसी भी बैंक शाखा से सम्पर्क कर के। दोनों तरीकों को विस्तारपूर्वक नीचे बताया गया है –

मुद्रा लोन ऑनलाइन एप्लीकेशन Mudra Loan Online Application Process

अगर आप ऑनलाइन तरिके के जरिये मुद्रा लोन पाना चाहते है तो ये काफी आसान है। नीचे दिए गए कुछ स्टेप्स की मदद से आप आसानी मुद्रा लोन ऑनलाइन अप्लाई (Mudra Loan Online Apply) कर सकते है।

  1. सबसे पहले ऑनलाइन मुद्रा पोर्टल खोलें व लॉगिन के ऑप्शन का चुनाव करें। आपको मुद्रा मित्र जो की PPMY के अंतर्गत आता है के इस लिंक पर जाना है – https://www.mudramitra.in/Login
  2. चूँकि आपका पहले से कोई Register Id नहीं है इसलिए आपको ‘New User’ के विक्लप को चुनना है।
  3. इसके बाद आपको रजिस्टर कर लेना है। रजिस्ट्रेशन (Registration) पूरा होने के बाद आपको आपके द्वारा दी गई Mail ID पर एक ईमेल प्राप्त होगा।
  4. रजिस्ट्रेशन पूरा होने के बाद आप मुद्रा लोन ऑनलइन फॉर्म अप्लाई (Mudra Loan Online Form Apply) कर सकते हैं। ऑनलाइन अप्लाई करते समय आपको अपनी मूलभूत जानकारी फॉर्म में भरनी होगी। ध्यान रहे की कोई भी जानकारी गलत न हो और न ही जानबूझकर कोई भी जानकारी गलत दें अन्यथा बाद में आपका लोन रिजेक्ट हो जायेगा, इसलिए उचित और सही जानकारी ही दें।
  5. ऑनलाइन मुद्रा फॉर्म अप्लाई (Online Mudra Form Apply) करने के बाद आपको फॉर्म के अंत में अपना लेंडर सलेक्ट करना होगा यानी आपको किस बैंक से लोन चाहिए उसकी जानकारी देनी होगी। इस जानकारी के बाद आपका मुद्रा लोन ऑनलाइन एप्लीकेशन प्रोसेस (Mudra loan online application process) पूरा हो जाता है।

मुद्रा लोन के लिए ऑफलाइन कैसे अप्लाई करें  Mudra Loan Offline Process

अगर आप ऑफलाइन विधि के जरिये मुद्रा लोन लेना चाहते है तो आपको  निम्न चरणों को पूरा करना होगा। मुद्रा लोन ऑफलाइन प्रक्रिया (Mudra Loan Offline Process) से जुड़े सभी जरुरी स्टेप्स नीचे दिए गए हैं इसलिए मुद्रा लोन (Mudra Loan) लेने से पूर्व इन्हें ध्यानपूर्वक पढ़ें –

STEP 1: जानकारी जुटाना और सही बैंक का चुनाव करना-  मुद्रा लोन लेने के लिए आवेदक को सर्वप्रथम अपने आस-पास के बैंकों से संपर्क करके लोन की प्रक्रिया और Interest Rate सम्बन्धी पूरी जानकारी जुटा लेनी चाहिए। लोन प्राप्त करने के लिए आपको एप्लीकेशन फॉर्म भरना होता हैं और उसके साथ कुछ डाक्यूमेंट्स सबमिट करने होते हैं|

STEP 2 : डाक्यूमेंट्स तैयार करना और एप्लीकेशन सबमिट करना-  Loan प्रदान करने के लिए बैंक सामान्यत: आपकी वित्तीय आवश्यकताओं के आधार पर दो तरह की जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं जिसमें वे विभिन्न तरह के डाक्यूमेंट्स की मांग कर सकते हैं:-

विभिन्न दस्तावेजों जैसे पिछले दो वर्षों की Balance Sheet, Income Tax Returns और आपके वर्तमान व्यवसाय की जानकारी जुटाकर यह जानने की कोशिश करते हैं कि क्या आप ब्याज सहित लोन वापस चुकाने की क्षमता रखते हैं या नहीं। बैंक यह जानने की कोशिश करते हैं कि आपके बिज़नेस में कितना Risk हैं ताकि वे यह सुनिश्चित कर सकें कि उनके द्वारा दिया गया पैसा सुरक्षित रहेगा|

बैंक आपके भावी Business Plan, Project Report, Future Income Estimates आदि के द्वारा यह जानने की कोशिश करते हैं कि बैंक द्वारा दिये गए Loan का उपयोग किस प्रकार के कार्यों में किया जाएगा और उस लोन के कारण Business का लाभ कितना और कैसे बढेगा|

STEP 3. लोन प्रोसेसिंग – Proper Documents के साथ एप्लीकेशन फॉर्म जमा करने के बाद बैंक आपके डाक्यूमेंट्स की जांच करेगी और पूरी तरह से संतुष्ट होने के लिए वे कुछ और डाक्यूमेंट्स की भी मांग कर सकते हैं। इस प्रक्रिया में कुछ दिनों का समय लग सकता हैं और लोन प्रोसेसिंग की प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद आपको disbursement amount का चेक दे दिया जाएगा जो आवेदक के बैंक खाते मे जमा किया जाता है।

बैंक यह सुनिश्चित करती हैं कि लोन की राशी आपके बिज़नेस या उसी उद्देश्य के लिए ही खर्च हो, जिसके लिए लोन दिया गया हैं। इसके लिए वे कई कदम उठाते हैं जैसे अगर आवेदक ने अपने प्रोजेक्ट मे कोई बड़ी मशीनरी या इक्विपमेंट खरीदनी है, तो भुगतान चेक के माध्यम से ही किया जाए|

मुद्रा लोन एप्लीकेशन का रिजेक्शन Mudra Loan Rejection

अगर आवेदक के डाक्यूमेंट्स और दर्शाया गया उद्योग / व्यापार प्रोजेक्ट बैंक को सही नहीं लगता तो बैंक आवेदक की एप्लीकेशन को रिजेक्ट भी कर सकता हैं। अगर डाक्यूमेंट्स और एप्लीकेशन मे कोई छोटी मोटी गलती हो तो बैंक ही आवेदकको मार्गदर्शन दे कर उसे ठीक करवा कर लोन की मंजूरी दे देता है|

मुद्रा कार्ड क्या होता है? (What is Mudra Card?)

मुद्रा लोन लेने वाले सभी आवेदकों को लोन प्रदान करते समय मुद्रा कार्ड (Rupay Debit Card के रूप में) जारी किये जायेंगे जो कि एक तरह से डेबिट कार्ड की तरह ही होंगे| इसके तरह व्यवसायी अपने मुद्रा लोन की 10% तक राशी मुद्रा कार्ड से खर्च कर सकेगा| मुद्रा कार्ड का उद्देश्य व्यवसायी की Working Capital (चालू पूंजी) की जरूरतों को पूरा करना हैं ताकि व्यवसायी अपने बिज़नेस के रोजमर्रा के खर्चों का मुद्रा कार्ड के द्वारा भुगतान कर सके और ब्याजखर्च को कम कर सके|

मुद्रा स्कीम हेल्पलाइन (Mudra Loan Helpline Number)

अगर मुद्रा लोन लेते समय कोई समस्या आये तो आप इस हेल्पलाइन वेबसाइट, मेल और फ़ोन नंबर पर संपर्क कर सकते हैं –

मुद्रा योजना वेबसाइट –http://www.mudra.org.in/

National Helpline Numbers For Pradhan Mantri Mudra Yojana – Call – 1800 180 1111 call – 1800 11 0001

Leave a Comment

x