Essay on Computer In Hindi | Computer Essay in Hindi

Paragraph on Computer : जैसा की हम सभी जानते है की आज का समय कंप्यूटर (Computer) का समय है। प्रतिदिन कंप्यूटर का इस्तेमाल (uses of computer) और कंप्यूटर की आवश्यकता (importance of computer) बढ़ती जा रही है। आज हर क्षेत्र में कंप्यूटर प्रयोग में लाया जा रहा है (uses of computer in different fields) फिर चाहे वो एक अस्पताल हो या फिर एक शोपिंग माल। कंप्यूटर की बढ़ती उपयोगिता का कारण है कंप्यूटर द्वारा किसी भी कार्य को आसान कर देने की आधुनिक तकनीक। आज तकनिकी का समय है और तकनिकी के इस दौर में कंप्यूटर का इस्तेमाल (Computer Uses) होना स्वाभाविक सी बात है क्योकि खुद कंप्यूटर भी तो तकनिकी की ही देन है जो हमारे कार्य को इतना आसान और स्टीक तरिके से करता है।

Essay on Computer in Hindi For Class 3 to 12 – कंप्यूटर पर निबंध 

कंप्यूटर की इसी उपयोगिता को ध्यान में रखते आज का विषय कंप्यूटर के निबंध से जुड़ा है। कंप्यूटर के इस निबंध को पढ़कर आप कंप्यूटर की उपयोगिता को और अच्छे से समज पाएंगे। उम्मीद करते है आपको निबंध पसंद आएगा।

अगर आप इस निबंध को पीडीऍफ़ फॉर्मेट में डाउनलोड करना चाहते है तो कंप्यूटर पर निबंध की पीडीऍफ़ फाइल (Computer essay pdf file) का डौन्लोडिंग लिंक इसी पोस्ट के अंत में उपलब्ध है, आप निःशुल्क उस पीडीऍफ़ फाइल को डाउनलोड कर सकते है। आईये कंप्यूटर की उपयोगिता से जुड़े आज के निबंध (essay on importance of computer) को पढ़ लेते है।

Importance of Computer Essay – कंप्यूटर की उपयोगिता निबंध 

Essay on Computer – कंप्यूटर पर निबंध

आज का युग विज्ञान का युग है। जीवन के प्रत्येक क्षेत्र में विज्ञान ने अपने अद्भुत चमत्कारों द्वारा क्रांति उत्पन्न कर दी है। विज्ञान की उन्नति ने मानव को विस्मित कर दिया है। विज्ञान के क्षेत्र में ऐसे-ऐसे अविष्कार हो चुके हैं कि मनुष्य उन्हें देखकर दांतो तले उंगली दबा लेता है। उनकी चकाचौंध देखकर आज भी मानव स्तब्ध रह जाता है। कंप्यूटर (Computer) का आविष्कार वैज्ञानिक चमत्कारों में एक ऐसा ही चमत्कार है जिसने मानव के जीवन को सरल एवं सुखद बना दिया है।

कंप्यूटर का आविष्कार (Evolution of Computer)- गणनाओं की जटिलता को देखते हुए वैज्ञानिकों ने यह सोचा कि क्यों ना गणनाओं के लिए एक मशीन का आविष्कार किया जाए? मशीन द्वारा गणना कर सकने की युक्ति आज से लगभग 350 वर्ष पुरानी है।

सन् 1662 में फ्रांस के एक गणितज्ञ ब्लेज पास्कल में सर्वप्रथम जोड़ करने की एक मशीन बनाई। इंग्लैंड के निवासी चार्ल्स बावेज ने सन् 1833 में मशीन का आविष्कार किया और वह आजीवन उस मशीन को आधुनिक कंप्यूटर का रूप देने का प्रयास करता रहा परंतु सफल ना हो सका।

आधुनिक कंप्यूटर (Computer) बनाने का श्रेय विद्युत अभियंता पी॰ इकरैट किक्रेट, भौतक शास्त्री जॉहन, डब्ल्यू॰ मैक्ली तथा गणितज्ञ जी॰वी॰ न्यूमैन को है। इन तीनों ने पारस्परिक सहयोग द्वारा सन 1944 में एक मशीन का आविष्कार किया जिसका नाम इलेक्ट्रॉनिक इन्टीमेटर एंड कंप्यूटर रखा गया। वर्ष 1952 में इस मशीन का सुधरा हुआ रूप बाजार में आया।

इलेक्ट्रॉनिक्स की प्रगति के फलस्वरूप एक के बाद एक अधिक कार्य क्षमता वाले कंप्यूटर (Computer) बनने लगे। तत्पश्चात उनके आकार पर भी नियंत्रण किया गया और आशा की गई कि आने वाले काल में इनका आकार 100 से 1000वें भाग तक कम हो जाएगा।

Computer and Its Uses – कंप्यूटर और इसके उपयोग  

कंप्यूटर का कार्य- कंप्यूटर वस्तुतः ऐसी मशीन है जो जोड़ने, घटाने, गुणा और भाग करने जैसी क्रियाओं को बड़ी शीघ्रता से और शुद्धता के साथ करती है। तदर्थ कंप्यूटर में कार्य निर्देश और आंकड़े फीड किए जाते हैं। दिए गए (फीड किए गए) कार्य-निर्देश इस प्रकार के होते हैं- जैसे कि किसने क्या जोड़ना है? या भाग करना है? क्या पढ़ना है, क्या लिखना है? आदि।

कार्य-निर्देशों का क्रमबद्ध संकलन कार्यक्रम कहलाता है। कंप्यूटर सर्वप्रथम इन निर्देशों को पड़ता है और अपनी स्मृति में बिठा लेता है। पुनः वह कार्यक्रम के अनुसार काम करता है। कंप्यूटर की सफलता इसी में है कि वह साधारण निर्देशों को एक उचित क्रम में से देने पर बड़ी-से-बड़ी जटिल गणना को भी बिना किसी अशुद्धि के शीघ्रता से कर सकता है‌। संक्षेप में कंप्यूटर की कार्यक्षमता उसकी समृति पर निर्भर करती है।

Uses of Computer in Different Fields 

विभिन्न क्षेत्रों में कंप्यूटर का उपयोग- कंप्यूटर ने मानव-जीवन में महत्वपूर्ण स्थान बना लिया है। स्कूलों, महाविद्यालय और विश्वविद्यालय में कंप्यूटर संबंधी शिक्षण भी दिया जा रहा है। सरकारी और गैर-सरकारी स्तर पर कंप्यूटर के कोर्स (Computer Course) चल रहे हैं। हाल ही में बी॰एस॰सी॰ के पश्चात एम॰सी॰ए॰ और एम॰एससी॰ पाठ्यक्रम भी चलाया चलाए जा रहे हैं। अमेरिका, जापान, इंग्लैंड, फ्रांस जैसे विकसित देशों में कंप्यूटर की आधुनिकतम शिक्षण व्यवस्था है। यह शिक्षण हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दो प्रकार का है। कंप्यूटर (Computer) के विभिन्न भाषाएं हैं, यथा- डोस, लोटस, कोबोल, पास्कल, बेसिक आदि।

हमारे आर्थिक, वैज्ञानिक, कला, युद्ध, ज्योतिष, चिकित्सा, मौसम, इंजीनियरिंग आदि सभी क्षेत्रों में कंप्यूटर का प्रयोग हो रहा है। आर्थिक जीवन में तो इसने क्रांति ही उत्पन्न कर दी है। बैंकों तथा विभिन्न फर्मों के खातों के संचालन और हिसाब-किताब में इसका खुलकर प्रयोग किया जा रहा है। अनेक राष्ट्रीय बैंकों द्वारा चुम्बकीय संख्या वाली चैक-बुक प्रसारित की गई है।

और पढ़ें –

औद्योगिक क्षेत्रों में देश की उपलब्धि विशेष रूप से उल्लेखनीय है। बड़े-बड़े उद्योग प्रायः अपना सारा काम कंप्यूटर द्वारा करने लगे हैं। टी॰वी॰, रेडियो, वी॰सी॰आर॰, बिजली की मोटरें तथा इलेक्ट्रॉनिक वस्तुओं के उत्पादन में कंप्यूटर का अधिकाधिक प्रयोग हो रहा है। बड़े-बड़े कारखानों में मशीनों को चलाने में कंप्यूटर की सहायता ली जा रही है। अब रोबोट (लौह पुरुष) कंप्यूटर (Computer) की सहायता से ही ऐसी मशीनों को चला सकते हैं जिनका संचालन के लिए कठिन है।

युद्ध के क्षेत्रों में अस्त्र-शस्त्रों को चलाने में कंप्यूटर (Computer) की सहायता ली जा रही है। हाल ही में इराक और अमेरिका के बीच हुए युद्ध में कंप्यूटर की भूमिका निभाई कि मानव उसे देखकर आश्चर्यचकित रह गया। मिसाइल छोड़ने में कंप्यूटर का प्रयोग किया गया। इसी प्रकार से भारी तोपों वायु यानों, हेलीकॉप्टरों, समुद्री जहाजों और पनडुब्बियों के संचालन में भी इनका खुलकर प्रयोग किया जा रहा है।

Computer Essay in Hindi

कंप्यूटर मानव प्रगति में सहायक- इस क्षेत्र में अमेरिका ने आशातीत प्रगति की है। सर्वप्रथम अमरीका ने मैं एटम बम से संबंधित गणनाओं के लिए कंप्यूटर बनाया गया था। लेकिन वह अब है इसकी सहायता से ‘स्टार वॉर्स’ की योजना भी बना रहा है। युद्ध के क्षेत्र में कंप्यूटर का अधिकाधिक प्रयोग हो रहा है।

कलाकार एवं चित्रकार भी अब कंप्यूटरों (Computers) का उपयोग करने लगे हैं। वे अब रंग, कैनवास और कुचियों के अधीन नहीं रहे। अब वे कंप्यूटरों की सहायता से अपने नियोजित कार्यक्रम के अनुसार बटन दबाते ही रंगों के साथ कागज पर चित्र तैयार कर लेते हैं। इन चित्रों की स्वच्छता और कलात्मक मानव द्वारा बनाए गए चित्रों से श्रेष्ठ होती है। संगीत तथा गीतों की रिकॉर्डिंग में भी कंप्यूटर का प्रयोग होने लगा है।

ग्रहणियों के लिए कंप्यूटर का प्रयोग काफी लाभकारी है। यूरोप में महिलाएं अपने अधिकतर गृह-कार्य इन्हीं की सहायता से कर रही हैं। इससे उनके जीवन में अनेक सुविधाएं मिल गई है। आज मानव जीवन का ऐसा कोई क्षेत्र नहीं बचा जहां कंप्यूटर की उपयोगिता न हो। रेल और वायुयान यात्रा के लिए टिकटों के आरक्षण की सुविधा कंप्यूटर से सुलभ हो गई है।

Uses of Computer for Kids-

बच्चों के लिए कंप्यूटर की उपयोगिता– आज के समय में बच्चों के जीवन में भी कंप्यूटर (Computer) ने महत्वपूर्ण जगह बना ली है। आज छोटे बच्चों से लेकर कालेज में जाने वाले छात्र कहीं न कहीं किसी रूप में कंप्यूटर का उपयोग करते ही है। आज स्कूलों में स्मार्ट क्लासरूम की व्यवस्था हो गयी है, जिनमें कंप्यूटर के द्वारा ही बच्चों को पढ़ाया अथवा सिखाया जाता है। कंप्यूटर न केवल उनके लिए एक पढ़ने का जरिया है बल्कि एक अहम विषय भी बन गया है।

भारत में भी इसका उपयोग खुलकर होने लगा है। विशेषकर दिल्ली, मुंबई, चेन्नई और कोलकाता जैसे बड़े बड़े नगरों के रेलवे स्टेशनों पर निरंतर कंप्यूटर काम कर रहे हैं। इसी प्रकार से परीक्षा-परिणाम, मौसम की जानकारी, चुनाव-परिणाम, अनुवाद-कार्य, वैज्ञानिक-शोध आदि क्षेत्रों में भी कंप्यूटरों (Computers )का प्रयोग काफी लाभकारी सिद्ध हो रहा है।

निष्कर्ष- कंप्यूटर (Computer) निश्चय आधुनिक यंत्र है। मानव जीवन को इसने एक नया मोड़ दिया है। भारत जैसे विकासशील राष्ट्र भी कंप्यूटर के क्षेत्र में आगे बढ़ रहा है। यद्यपि आरंभ में तो कुछ लोगों द्वारा इसका विरोध भी किया गया परंतु अब यह प्रत्येक सरकारी और गैर-सरकारी कार्यालयों में अपने आश्चर्यजनक परिणाम दे रहा है। हमारा देश भी सॉफ्टवेयर का निर्यात करने लगा है। कुछ फर्मों द्वारा कंप्यूटर का निर्माण भी होने लगा है।

Computer Essay in Hindi – कंप्यूटर पर निबंध 

Computer Essay (कंप्यूटर निबंध ) – 2

कंप्यूटर विज्ञान का एक ऐसा अविष्कार है जिसकी चर्चा सारे विश्व में हो रही है। कंप्यूटर विज्ञान की अदभुत देन है। कंप्यूटर की उपयोगिता को देखते हुए आज के युग को कंप्यूटर का युग कहा जाता है। आने वाले युग में सभी निर्णय कंप्यूटर ही करेगा तथा मनुष्य हाथ में हाथ धरे बैठा रहेगा। कंप्यूटर वास्तव में आज की सर्वाधिक आवश्यकता बन गया है। कंप्यूटर क्या है? यह प्रश्न सामने आता है।

प्राचीन काल से ही मानव अंकगणित का प्रयोग करता आ रहा है। इसकी से लगभग चार हजार वर्ष पहले एक विधि ‘गणकपटल’ का तथा सरल तार समानांतर लगे होते थे और तारों के बीच गोल दाने होते थे ये गोल दाने तार के इस सिरे से उस सिरे तक सरला से खिसकाए जा सकते थे। आज भी यह गणक पटल छोटे बच्चों को गिनती या पहाड़े याद कराने के काम आता है।

कंप्यूटर को सबसे पहले चाल्र्स बैबज ने 1946 ई. में बनाया था। यह कप्यूटर का नाम एनिएक था। उसके बाद तो कंप्यूटर की अनेक पीढिय़ां आ चुकी हैं। वर्तमान युग कंप्यूटर का युग है। यह एक ऐसा यंत्र है जो बिजली की शक्ति से संचालित होता है। यह मानव मस्तिष्क से भी तीर्व गति से गणता तक कर सकता है।

जोड़, भाग, गुणा, घटा आदि के साथ-साथ लघुत्तम, महत्तम एंव प्रतिशत आदि अनेक गणनांए यह बड़ी तीव्र गति से कर सकता है। सुपर कंप्यूटर एक सैकंड में करोड़ों गणनांए कर सकता है।

आज अमेरिका, रूस, फ्रांस, जर्मनी, हॉलैंड, स्वीडन, ब्रिटेन आदि से इसे मानव मस्तिष्क का दर्जा मिल चुका है। भारत में भी कंप्यूटर विज्ञान का तीव्रता से विकास हो रहा है तथा हर क्षेत्र में उसकी सहायता लेकर कार्यक्षमता को बढ़ावा दिया जा रहा है।

इसके उपयोग कारखानों में कल पुर्जे बनाने, डाक डांटने, रेल मांर्ग संचालन तथा टिक बांटना, शिक्षा, मौसम की जानकारी, वैज्ञानिक अनुसंधान, अंतरिक्ष विज्ञान, परिवहन व्यवस्था, विमान परिवहन, चिकित्सा, व्यापार, वीडियो खेलख् मुद्रण के साथ बिलियर्ड और शतरंज आदि के खेल बखूबी से खेलता है।

हमारे देश में सबसे पहला कंप्यूटर सन 1961 ई. में आया था। तब से आज तक दूसरे देशों में काफी कंप्यूटर हमारे देश में आए और अब ये यहां भी बनाए जा रहे हैं। इस समय यहां पर हजारों की तादार में कंप्यूटर हमारी बहुत मदद कर रहे हैं। बिजली के बिल बनाने व भेजने में इनका उपयोग किया जा रहा है। बैंकों में इसका उपयोग काफी सफल रहा है। पर्चों को जांचने में भी इसका प्रयोग हो रहा है। संघ लोक सेवा आयोग की प्राथमिक परीक्षा देने के लिए विशेष किस्म की उत्तर शीटें दी जाती हैं। इन्हें सीधे कंप्यूटर में भेजकर परीक्षार्थी के अंक पता लगा जाते हैं। इसकी मदद से पुस्तकें महीनों के स्थान पर दिनों में तैयार हो जाती हैं। यह एक घंटे में 20 सहस्र उत्तर शीटों की जांच कर सकता है।

आज कंप्यूटर सभी क्षेत्रों में हमारी मदद कर रहा है। विद्यालयों में भी विद्यार्थियों को इसका शिक्षण दिया जा रहा है। टिकटों के आरक्षण, समान की देखभाल और विमान में काम पर लगाने तथा वायु परिवहन को सुचारू रूप से चलाने के लिए भी कंप्यूटर पर निर्भर है। आज कंप्यूटर मानव जीवन के लिए सबसे अधिक उपादेय है।

कंप्यूटर को मावन मस्तिष्क से श्रेष्ठ नहीं कहा जा सकता क्योंकि कंप्यूटर प्रणाली का जन्मदाता भी तो मानव-मस्तिष्क ही है। साथ ही मानव मस्तिष्क में जो चिंतन-क्षमता, अच्छे बुरे की परख तथ अनुभूति सामथ्र्य है, वह कंप्यूटर में नहीं है। मानव मस्तिष्क कंप्यूटर की भांति भावना शून्य नहीं है।

Short Paragraph on Computer in Hindi-

कम्प्यूटर का आविष्कार मानव की सबसे अद्भूत उपलब्धि थी। वैसे तो मानव द्वारा अनेक प्रकार के आविष्कार किए गए और हर आविष्कार अपने महत्व से जाना जाता है, अपितु कम्प्यूटर के आविष्कार ने पूरे विश्व की कायाकल्प ही कर दी।

आज के दौड़ती भागती जिंदगी में कम्प्यूटरर मानवीय जीवन का एक अभिन्न अंग बन चुका है। सुबह से लेकर रात तक हम अपने कार्यकलापों पर नजर डालें तो पाएंगे कि कम्प्यूटर के आगमन ने किस प्रकार हमारे जीवन को सुलभ, रोमांचकारी और आनंददायी बना दिया है। वैसे तो कम्प्यूटर का सर्वाधिक प्रयोग सरकारी व गैर-सरकारी संस्थानों में, कल-कारखानों में और मशीनों में होता है लेकिन साथ ही आज विद्यालयों कम्प्यूटर का ज्ञान अनिवार्य कर दिया गया है।

चाहे हम बैंक में पैसे जमा करने या निकालने जाए, एटीएम जाएँ, मॉल में सामान खरीदने जाएँ हर जगह कम्प्युटर आसानी से दिख जाएंगे। समय के साथ कम्प्युटर ने अपना रूप भी बदला है। पहले एनालॉग, फिर डिजिटल और अब सुपर कम्प्यूटर ने बाज़ार कि रूप रेखा ही बादल दी है। इनके माध्यम ने नित्य नए खोज किए जा रहे हैं। अन्तरिक्ष में नए आयाम कायम किए जा रहे हैं। आंकड़ों का संग्रह और अपने संदेशों को विश्व के किसी भी कोने में बैठे अपने परिचित तक पहुंचाना अब चुटकी भर का काम हो गया है। अतः आज कम्प्यूटर के महत्व को हर कोई स्वीकार कर रहा है और खुद तो सीख रहा ही है अपने बच्चों और परिचितों को भी सीखने कि प्रेरणा दे रहा है।

जैसा कि हर किसी वस्तु का अच्छा और बुरा दोनों पहलू होता है, वैसे ही कम्प्यूटर का भी बुरा पहलू भी है। कम्प्युटर के अत्यधिक प्रयोग से आँख और अस्थि संबंधी बीमारी उभरे हैं।कम्प्यूटर में अनेक ऐसे सॉफ्टवेयर होते हैं जिनके माध्यम से अपराध कि घटनाएँ घट रही है। बच्चे अपने परिवार के बजाय कम्प्यूटर और इंटरनेट के माध्यम से जुड़े मित्रों के साथ समय बिताना ज्यादा पसंद कर रहे हैं। बाहरी खेलों में बच्चों की रुचि कम हुई है।

इन सब के बावजूद कम्प्यूटर अपने महत्व से कम नहीं होता। दिन-व-दिन इसकी महत्ता में वृद्धि ही होगी। अतः हर व्यक्ति को कम्प्यूटर सीखना चाहिए। हमें इसके बुरे प्रभाव से बचना चाहिए और जहां तक संभव हो इसका अपने उत्थान के लिए प्रयोग करना चाहिए।

 

Computer Essay PDF Download Link

Click Here to Download PDF

 

Related Search Terms-

computer essay
uses of computer essay
computer nibandh
essay on computer in hindi for class 5
essay on computer and its uses
essay on computer education
paragraph on computer

 

Computer Wikipedia Link

 

Leave a Comment

x