👉मेरा प्रिय नेता पर निबंध: Essay on Mera Priya Neta

Essay on Mera Priya Neta: मेरा प्रिय नेता पर निबंध: महात्मा गांधी, भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महान नेता और एक महान विचारक थे। उनके नेतृत्व में भारतीय जनता ने अपने स्वतंत्रता के लिए संघर्ष किया और उनके अनुयायियों को अहिंसा और सत्य के मार्ग पर चलने की प्रेरणा मिली। मैं मानता हूँ कि महात्मा गांधी ही वे व्यक्ति हैं जिनका आदर करना और उनके विचारों से प्रेरित होना हमारे लिए एक गर्व की बात है।

महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को पोरबंदर, गुजरात में हुआ था। उन्होंने विद्या की प्राप्ति के बाद वकालत की पढ़ाई की, लेकिन उन्हें यह प्राथमिकता थी कि वे देश की स्वतंत्रता के लिए संघर्ष करें।

महात्मा गांधी ने अहिंसा और सत्य के मार्ग पर चलकर भारतीय स्वतंत्रता संग्राम को नया दिशा देने का काम किया। उन्होंने अपने अनशन, सत्याग्रह और नमक सत्याग्रह जैसे आंदोलनों से भारतीय जनता को आवाज दी और उन्हें अपने अधिकारों की मांग करने का साहस दिलाया।

महात्मा गांधी का नेतृत्व उनके अनुयायियों के दिलों में बस गया और वे उन्हें अपने प्रिय बापू के रूप में स्वीकार कर लिया। उनके नेतृत्व में ही भारतीय स्वतंत्रता संग्राम का नायक खड़ा हुआ और उनके अनुयायियों ने उनके मार्गदर्शन में संघर्ष किया और भारतीय राष्ट्र को आजादी दिलाने का सपना पूरा किया।

महात्मा गांधी की मृत्यु 30 जनवरी 1948 को हुई, लेकिन उनके विचार और आदर्श आज भी हमारे दिलों में जिंदा हैं। उन्होंने अपने जीवन में दिखाया कि आपसी सद्भावना, अहिंसा और सत्य का पालन करके हम समाज में सुख-शांति की स्थापना कर सकते हैं।

इस प्रकार, महात्मा गांधी मेरे प्रिय नेता हैं, जिन्होंने अपने आदर्शों, नैतिकता और संघर्ष से हमें सही मार्ग पर चलने की प्रेरणा दी है। उनकी आत्मा को श्रद्धांजलि!

Mera Priya Neta Par Nibandh (Hindi Essay) | मेरा प्रिय नेता: हिंदी निबंध

Essay on Mera Priya Neta: मेरा प्रिय नेता पर निबंध

प्रस्तावना:

नेता वह व्यक्ति होता है जो अपने देश या समाज की सेवा करने का संकल्प रखता है और उसके मार्गदर्शन में लोग उसके प्रति आदर और सम्मान रखते हैं। मेरे लिए मेरा प्रिय नेता वह है जिसने मेरे जीवन को प्रेरित किया है और मेरे लिए एक आदर्श है। मैं इस निबंध में “मेरा प्रिय नेता” के विषय पर विस्तार से चर्चा करने जा रहा हूँ।

मेरा प्रिय नेता:

मेरा प्रिय नेता महात्मा गांधी है। उन्होंने अपने जीवन में विश्वास और अहिंसा के माध्यम से भारतीय स्वतंत्रता संग्राम का मार्गदर्शन किया। उन्होंने अपने आदर्शों के साथ ही देश को एक सशक्त और समृद्धि युक्त बनाने का मिशन भी साथ में लिया।

महात्मा गांधी का जीवन:

महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर, 1869 को पोरबंदर, गुजरात में हुआ था। उन्होंने विद्या की पढ़ाई के बाद अपने वकील बनने का सपना देखा था, लेकिन उनके जीवन में एक ऐसा पल आया जब उन्होंने अपने आदर्शों की परिपूर्णता के लिए वकीली कार्य को छोड़ दिया।

अहिंसा की ओर मुड़ते कदम:

महात्मा गांधी ने अपने जीवन में अहिंसा के महत्व को समझा और उन्होंने इसे अपने आदर्शों का मूलमंत्र बनाया। उन्होंने विभाजन के बजाय एकता की ओर मुड़ते हुए भारत को स्वतंत्रता दिलाने के लिए अहिंसा और सत्य का मार्ग प्रशस्त किया।

स्वतंत्रता संग्राम में योगदान:

महात्मा गांधी ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के आदर्श रूपी तारीकों को स्थापित किया। सत्याग्रह, असहमति, विशेष दरबार, चलो दिल्ली, खिलाफत आंदोलन जैसे आंदोलनों के माध्यम से उन्होंने ब्रिटिश साम्राज्य के खिलाफ लोगों को जागरूक किया और भारतीय स्वतंत्रता संग्राम की मुख्य दिशा में मार्गदर्शन किया।

निष्कर्ष:

महात्मा गांधी मेरे लिए एक आदर्श हैं जो अपने आदर्शों के प्रति अपने जीवन की बलिदानी भावना को प्रकट करते हैं। उनके द्वारा दिखाया गया मार्ग मुझे भी सच्ची सेवाभावना और समाज सेवा की दिशा में प्रेरित करता है।

 उम्मीद करते हैं की आपको मेरा प्रिय नेता पर निबंध (Essay on Mera Priya Neta) जरूर पसंद आया होगा। किसी भी प्रकार के सवाल अथवा सुझाव के लिए आप कमेंट बॉक्स में कमेंट कर सकते हैं।