Moral Stories in Hindi For All Class | हिंदी शिक्षाप्रद कहानियाँ

Moral Stories in Hindi
Spread the love

हिंदी शिक्षाप्रद कहानियाँ – Moral Stories in Hindi for Kids

आज की इस पोस्ट में हम लेकर आये है बच्चों के लिए हिंदी शिक्षाप्रद कहाँनियाँ (short moral stories in hindi for kids).  उम्मीद करते हैं करते है की ये हिंदी कहानियाँ (Hindi Stories) आपको पसंद आएगी। चलिए बिना किसी देरी के नीचे दी गई हिंदी कहानियों का आनंद लीजिये। ये कहानियाँ हर कक्षा (Class) के बच्चों के लिए एकदम अनुकूल है। इन कहानियों से आपको काफी अच्छी सिख मिलेगी।

—कपटी बाज—

एक बाज एक पेड़ की डाली पर रहता था। उसी पेड़ की खोह में एक लोमड़ी रहती थी।

एक दिन, जब लोमड़ी अपनी खोह से निकली तो बाज बाज उसमे घुस गया और अपने बच्चों को खिलाने के लिए लोमड़ी के बच्चों को उठाकर ले गया। जब लोमड़ी लौटी, तो उसने बाज से अनुरोध किया कि उसके बच्चे लौटा दे।

बाज जानता था कि लोमड़ी उसके घोंसले तक नहीं पहुँच पाएगी। उसने लोमड़ी के अनुरोध पर कोई ध्यान नहीं दिया। लोमड़ी पास के एक मंदिर गई और वहाँ से जलती हुई लकड़ी लेकर आयी। उसने पेड़ के नीचे आग लगा दी। आग की गर्मी और धुंएँ से बाज डर गया। अपने बच्चों की जान बचाने के लिए वह जल्दी से लोमड़ी के पास आया और उसके बच्चे लौटा दिए।

निर्दयी व्यक्ति जिनका दमन करता है, उनसे उसे हमेशा खतरा रहता है। 


Story in Hindi for Class 2 | Hindi Short Stories for Class 1

—मुर्गी और बिल्ली —

एक बार एक बहुत चालाक मुर्गी थी। एक दिन वह बीमार पड़ गई और अपने घोंसलें में पड़ी थी। तभी एक बिल्ली उसे देखने आई। उसके घोंसले में घुसकर बिल्ली बोली, “मेरी दोस्त, क्या हुआ तुम्हे? क्या मैं तुम्हारी कोई मदद कर सकती हूँ? तुम्हें कुछ चाहिए हो तो बताओ, मैं ला दूंगी।” अभी तुम्हें कुछ चाहिए क्या?”

मुर्गी ने बिल्ली की प्यार भरी बातें सुनी। उसे खतरे का आभास हो गया। वह बोली, “हाँ, बिलकुल। मेरे लिए एक काम कर दो। यहाँ से चली जाओ। मैं बीमार हूँ और किसी अनचाहे मेहमान को बुलाकर कोई खतरा नहीं उठाना चाहती।”


Moral Stories for Kids in Hindi

—कानी हिरनी —

एक कानी हिरन समुद्र तट के पास घास चर रही थी। उसे हमेशा सतर्क रहना पड़ता था क्योकि शिकारी कभी भी उस पर हमला कर सकते थे। वह बार बार आसपास के मैदान पर नज़र डाल लेती थी। उसका मानना थी कि शिकारी आएंगे तो इसी रस्ते से आएंगे। वह समुद्र की ओर कभी नहीं देखती थी क्योकि उसे लगता था कि समुद्र की और से तो शिकारी आएँगे नहीं। एक दिन, कुछ लोग नाव पर सवार होकर आए। हिरनी को चरते देखकर, उन्होंने उस पर तीर चला दिया। देखते ही देखते हिरनी जमीन पर गिर पड़ी। अंतिम साँस लेते हुए हिरनी स्वयं से बोली, “भाग्य का खेल कितना निराला है! मैं सोचती थी कि खतरा जमीन की ओर से आएगा, लेकिन मेरे दुश्मन तो समुद्र की ओर से आ गए।”

कहानी से मिली सिख – खतरे प्रायः उस ओर से आते है, जहाँ से उनके आने की आशंका कम होती है। 


इन्हें भी पढ़ें –

खरगोश और कछुआ की कहानी। 

विज्ञापन का दौर – हिंदी निबंध 

टूथपेस्ट हिंदी विज्ञापन लेखन 


Top 10 Moral Stories in Hindi

—उद्धंड बेटा —

एक व्यपारी का बहुत उद्धंड बेटा था। वह पूजा पाठ और भलाई के कामों में बिलकुल रूचि नहीं लेता था। धर्म कर्म में उसकी रूचि जगाने के इरादे से उसकी माँ ने उसे एक मंदिर में संत के प्रवचन सुनने के लिए भेजा। उसकी माँ ने उसे लालच दिया कि अगर वह संत के पुरे प्रवचन सुनकर आएगा तो वह उसे हजार रुपए देगी। रुपयों के लालच में बीटा तैयार हो गया, लेकिन ध्यान से प्रवचन सुनने की बजाय व वहाँ पूरे समय सोता रहा।

अगले दिन सुबह, उसका बेटा घर लौटा और उसने माँ से हज़ार रुपए ले लिए। रुपए लेकर उसने व्यापार के लिए समुद्र पार जाने का निश्चय किया। उसकी माँ ने उसे रोकने का बहुत प्रयास किया, लेकिन बेटे ने उसकी एक नहीं सुनी। उसने अपना सामान बांधा और यात्रा पर निकल पड़ा। मगर अफ़सोस!  रास्ते में बहुत तेज़ तूफ़ान आया और उसका जहाज सारे यात्रियों समेत डूब गया।

इस प्रकार माँ की सलाह न मानने की सजा बेटे को भी भुगतनी पड़ी। 


Moral Stories in Hindi for Class 7 and  Class 8

—बंदर और ऊँट —

कई साल पहले, जंगल से सारे जानवर अपनी-अपनी अभिनय और नाच-गाने की प्रतिभा दिखाने के लिए एकत्र हुए। जब सारे जानवर आ गए, तो बंदर से नाचने को कहा गया। बंदर तो उछल-कूद और कलाबाजियों में माहिर था ही। उसने अपने नाच से सबका मनोरंजन किया।

सभी लोगो ने बहुत सराहना की और बंदर को सभी ने  बहुत अच्छा नर्तक मान लिया। ऊंट से बंदर की सराहना सहन नहीं हुई और उसने भी नाचना शुरू कर दिया। उसका नाच बिलकुल बेतुका और बेढंगा था। उसका नाच किसी को भी पसंद नहीं आया और सबने उसकी बुराई की। उसने ईर्ष्या से भरकर नाच दिखाया था, इसलिए उसे दंड के रूप में जंगल से निकल दिया गया।

सिख – अगर तुम अपन बाँह से अधिक अपना हाथ पसारोगे, तो तुम्हें हानि ही होगी। 


इसी प्रकार की अन्य हिंदी कहानियाँ या फिर हिंदी विषय से जुड़े विभिन्न कक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण प्रश्नों के लिए हमारी वेबसाइट हिंदी टिप्स गाइड पर विजिट करते रहें। कमेंट बॉक्स के माध्यम से अपने सुझाव अथवा सवाल देना न भूलें। आपके कमेंट हमारे लिए हमेशा महत्वपूर्ण होते है। धन्यवाद। 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *