Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi | स्वच्छ भारत अभियान निबंध

swachh bharat abhiyan in hindi essay
Spread the love

स्वच्छ भारत अभियान निबंध (Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi – Swachh Bharat)

आज की पोस्ट में हम बात करने वाले है हमारे देश की स्वछता योजना के प्रति और लेकर आएं है इसी विषय से जुड़ा एक महत्वपूर्ण निबंध जो की है – स्वछता पर हिंदी निबंध (essay on swachata in hindi). स्वछता का विषय विचरणीय है। अक्सर परिक्षों में ऐसे हिंदी निंबध प्रश्न के तौर पर आपसे पूछे जाते है। इसलिए आपको स्वछता निंबध लिखना आना बहुत जरुरी है।  तो बिना किसी देरी के नीचे दिए गए  स्वच्छ भारत अभियान निबंध (Swachh Bharat Abhiyan Essay) को ध्यानपूर्वक पढ़ें व सीखें।

Essay on Swachh Bharat Abhiyan in Hindi

स्वच्छ भारत अभियान

भारत के महान व्यक्ति महात्मा गाँधी ने कहा था कि, “स्वछता स्वतंत्रा की तुलना में अधिक महत्वपूर्ण है” गरीबी, शिक्षा की कमी स्वछता की कमी और अन्य सामाजिक मुद्दों के कारण भारत अभी भी विकाशील देश है। हमें समाज से सभी बुरे कारणों को खत्म करने की जरुरत है जिससे हमारे देश के विकास में रुकावट न हो।

और मुझे लगता है कि स्वछता अभियान (swachata abhiyan) समाज से समाजिक मुद्दों को दूर करने के साथ साथ अपने नागरिकों के व्यक्तिगत विकास व देश के विकास को बढ़ावा देने का सर्वोत्तम शुरआत है। केवल स्वछता अभियान की सफलता से भारत में एक बड़ा सकारात्मक बदलाव लाया जा सकता है। यह आंतरिक और बाहरी विकास और भारत में रहने वाले लोगों के विकास से संबधित है, जो हमें, “स्वच्छ, खुश और स्वस्थ नागरिकों के स्वस्थ और विकसित राष्ट्र प्रदान करता है” के नारे की पूर्णता को दर्शाता है। स्वच्छ भारत अभियान (Swachh Bharat Abhiyan) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने 2014 गाँधी जयंती (145 वे जन्मदिन की सालगिरह) पर 2 अक्टुबर को शुरू किया था।

स्वच्छ भारत अभियान स्लोगन – (Slogan on Swachh Bharat Abhiyan in Hindi)

  • साफ़ हो सुंदर हो – ऐसा मेरा भारत देश हो
  • स्वच्छ तन रहेगा- जब ही तो स्वस्थ मन रहेगा।
  • मेरा शहर साफ़ हो, इसमें हम सबका हाथ हो।
  • धरती माता करे पुकार, आस-पास का करो सुधार। ..
  • स्वछता को अपनाना है, गंदगी को दूर भगाना है।
  • हम सबका यही सपना, स्वच्छ भारत हो अपना।
  • बीमारियों का भूत भगाओ, स्वछता का मंत्र अपनाओ

Essay on Swachh Bharat Swasth Bharat in Hindi

भारतीय स्वतंत्रा आंदोलन के दौरान भारीतय ग्रामीण लोगों की कमज़ोरी के बारे में महात्मा गाँधी अच्छी तरह जानते थे। उन्होंने इस देश को एक स्वच्छ देश बनाने का सपना देखा और यहां तक कि उन्होंने ग्रामीण लोगों के बीच बहुत से माध्यमों पर बहुत जोर दिया, लेकिन लोगों की अपूर्ण भागीदारी के कारण पूरा नहीं हो सका। कई वर्षों की आज़ादी के बाद हम अभी भी गंदगी के माहौल में रह रहें है और हमारे जीवन को हर पल खतरे में दाल रहें है। आंकड़ों के मुताबिक, लगभग 30 प्रतिशत ग्रामीण लोगों को शौचालयों तक सुरक्षित पहुंच नहीं है और खेतों में खुली मलजल प्रणाली का इस्तेमाल होता है। जो स्वछता के नज़रिये से बिलकुल भी उचित नहीं है।

भारतीय राट्रपति प्रणब मुखर्जी ने जून 2014 में संसद को संबोधित करते हुए कहा था – “पुरे देश में स्वछता, अपशिष्ट प्रबंधन सुनिश्चित करने के लिए स्वच्छ भारत मिशन शुरू किया गया है। यह महात्मा गाँधी को हमारी 150 वीं जयंती पर वर्ष 2019 में मनाया जाने वाला हमारी श्रद्धांजलि होगी।

उचित स्वछता और स्वछता में भारत के बारे में वैश्विक धारणा को बदलने की क्षमता है और हर साल अधिक पर्यटकों को आकर्षित कर सकते है जो बदलाव में भारत की अर्थव्यवस्था को एक महान स्तर तक बढ़ा सकते है। इस अभियान के अनुसार, हर भारतीय नागरिक किया गया है कि वे भारत के लिए सालाना केवल 100 घण्टे समर्पित करें। ऐसा करने से हम देश स्वच्छ रखने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते है।

एक छात्र और सबसे महत्वपूर्ण भारतीय नागरिक की रूप में. मैं भी सभी लोगों से अनुरोध करता हूँ 2019 तक प्रतिसपर्धा करने के लिए इस मिशन में भाग लें और अपने भारत देश की विकास और उन्नती के भागी बने।


इन्हे भी पढ़ें –

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ हिंदी निबंध 

विज्ञापन की दुनिया – हिंदी निबंध 


Paragraph on Swachh Bharat Abhiyan in Hindi (200 Words)

स्वच्छ भारत : मेरे सपनों का भारत

स्वछता विकास का दूसरा नाम है। विकास के लिए स्वछता पहला कदम है। आज भारत विकास की सीढ़ियों पर चल रहा है और इसके लिए हमारी सरकार ने नाना प्रकार की योजनाएँ चलाई है जैसे राष्ट्रीय स्तर पर स्वच्छ भारत अभियान (2 अक्टूबर 2014), ऑड-इवन स्कीम (दिल्ली) और दरवाज़ा बंद योजना (शौचालय के लिए) हमारी सरकार कहीं पर भी एक प्रतिशत कसर नहीं छोड़ रही गन्दगी हटाने के लिए तो हम क्यों पीछे रह रहे है।

स्वछता हमारे जीवन से कभी न हटाए जाने वाली वस्तु है। हमारे राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी का भी यही सपना था कि भारत विकसित कहे जाने वाले देशों के बराबर खड़ा हो सके। यदि हमारे आस पास के वातावरण में स्वछता है, साफ़-सफाई है तो उस वातावरण में काम करने के भी अलग हे उत्साह, अलग हे आनंद होता है। स्वछता का मतलब झाड़ू लेकर देखावे के लिए लगाना नहीं होता बल्कि स्वछता का मतलब उसको अपनाना तथा उसको बनाए रखना होता है।

हमें यह संकल्प लेना होगा क़ि हम सभी एकजुट होकर भारत में स्वछता लाएंगें और विकसित बनाएंगें।

Under Related Search –

swachh bharat abhiyan slogan in hindi
swachh bharat abhiyan in hindi essay
slogan on clean india in hindi
swachh bharat abhiyan essay in hindi with points
swachh bharat abhiyan essay in hindi point wise
swachh bharat abhiyan essay in hindi slogans
swachh bharat abhiyan per nibandh
swachh bharat abhiyan in hindi pdf
swachh bharat swasth bharat par nibandh hindi mein
swachh bharat swasth bharat par nibandh in hindi
essay on swachata in hindi

पोस्ट से जुड़े अपने विचार हमे कमेंट बॉक्स के माध्यम से बताना बिलकुल न भूलें। हिंदी विषय से जुड़े इसी तरह के महत्वपूर्ण विषय के लिए हमारी वेबसाइट हिंदी टिप्स गाइड पर विजिट करते रहें। धन्यवाद। 

 

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *