जयशंकर प्रसाद आधुनिक हिंदी-साहित्य के प्रतिभावान कवि और लेखक थे वे छायावाद के प्रवर्त्तक थे।

1889-1937

हरिवंश राय बच्चन

जन्म - 1889 जन्म स्थान - उत्तर प्रदेश के वाराणसी शहर में मृत्यु - 15 नवंबर, 1937 पिता - बाबू देवीप्रसाद जी कर्म-क्षेत्र - उपन्यासकार, नाटककार, कवि

मुख्य रचनाएं

चित्राधार, कामायनी, आँसू, लहर, झरना, एक,घूँट, विशाख, अजातशत्रु,  आकाशदीप, आँधी, ध्रुवस्वामिनी, तितली और कंकाल, ज्‍जन, कल्‍याणी-परिणय, चन्‍द्रगुप्‍त, सकन्‍दगुप्‍त,  प्रायाश्चित्त,

साहित्यिक विशेषताएँ-

उन्होंने अपनी कहानियों,नाटक तथा कविताओं के जरिए हिंदी साहित्य में अपना माधुर्य बिखेरा। राजनीतिक संघर्ष तथा संकट की स्थिति में राजपुरुष का व्यवहार उन्होंने बड़ी गहराई से समझा और लिखा।

प्रसाद जी ने अपनी भाषा का श्रृंगार संस्‍कृत के तत्‍सम शब्‍दों से किया है। भावमयता इनकी भाषा शैली प्रधान विशेषता है।

भाषा शैली